अगर आप किसी MSME के मालिक हैं, तो जानें MSME का रजिस्ट्रेशन कराने से होने वाले पाँच फ़ायदे

February 24, 2020
Harshna Paroha

अगर आप एक ऐसे व्यवसाय के मालिक हैं, जो सूक्ष्म, लघु या मध्यम उद्योग के अंतर्गत आता है, लेकिन आपने MSME अधिनियम 2006 के तहत रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया है, तो आप कई लाभ पाने से चूक सकते हैं। हालाँकि, अगर आप सरकार की MSME योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करते हैं, तो आप इससे जुड़े कई लाभ पाने के हकदार हो सकते हैं। आइए जानें।

कैसे पहचाने कि आपका व्यवसाय MSME के रूप में योग्य है?

(How to check if your business qualifies as an MSME?)

मैन्यूफैक्चरिंग और सर्विस इंडस्ट्री (Service Industry) दोनों प्लांट और मशीनरी में निवेश के आधार पर MSME के रूप में क्वालिफ़ाई कर सकते हैं।

मैन्यूफैक्चरिंग क्षेत्र के उद्यमों के लिए MSME के रूप में क्वालिफ़ाई करने के लिए प्लांट, मशीनरी और इंफ़्रास्ट्रक्चर में उनका निवेश:

सूक्ष्म उद्यम के लिए 25 लाख रुपये से कम होना चाहिए।

लघु उद्यम के लिए 25 लाख रुपये से अधिक, लेकिन 5 करोड़ रुपये से कम होना चाहिए।

मध्यम उद्यम के लिए 5 करोड़ रुपये से अधिक, लेकिन 10 करोड़ रुपये से कम होना चाहिए।

सर्विस क्षेत्र के उद्यमों के लिए MSME के रूप में क्वालिफ़ाई करने के लिए प्लांट, मशीनरी और इंफ़्रास्ट्रक्चर में उनका निवेश:

सूक्ष्म उद्यम के लिए 10 लाख रुपये से कम होना चाहिए।

लघु उद्यम के लिए 10 लाख रुपये से अधिक, लेकिन 2 करोड़ रुपये से कम होना चाहिए।

मध्यम उद्यम के लिए 2 करोड़ रुपये से अधिक, लेकिन 5 करोड़ रुपये से कम होना चाहिए।


MSME का रजिस्ट्रेशन न होने पर इन फ़ायदों से वंचित रह सकते हैं आप:

(What you’ll miss out on if you don’t register)


1- सरकारी प्रोत्साहन (Government Incentives):

MSME अधिनियम के तहत अपने व्यवसाय को रजिस्टर कराने से आपको सरकारी प्रोत्साहन, सब्सिडी, टैक्स में छूट, अन्य छूट, और कोलेट्रल-फ़्री लोन प्राप्त करने की सुविधा मिलती है।


2- आर्थिक लाभ (Monetary Advantage):

MSME अधिनियम के तहत रजिस्टर कराने पर व्यवसाय, इंफ़्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए किए गए ख़र्चों की भरपाई (Reimbursement), IOS सर्टिफ़िकेशन की प्राप्ति और IPR फ़ाइलिंग शुल्क में कमी जैसी सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।


3- प्राथमिकता ऋण (Priority Lending):

RBI के अदेशानुसर बैंकों को MSME के लिए अपने फ़ंड्स का कुछ हिस्सा निर्धारित करना होगा। रजिस्टर्ड MSME अपनी लंबी और अल्पकालिक (Short Term) फ़ाइनेंसिंग ज़रूरतों को पूरा करने के लिए आसानी से इस पूँजी का लाभ उठा सकते हैं।


4- अंतरराष्ट्रीय मे इवेंट्स में प्रवेश (Access to International Fairs):

MSME की मान्यता मिलने पर आप अन्य नॉन-मॉनेटरी लाभ जैसे, बाज़ार से सहायता, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय इवेंट्स में भाग, अपने उत्पाद का अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शन (International Exhibition) का अवसर और अपने व्यवसाय का विस्तार जैसी सुविधाएँ प्राप्त करने के भी योग्य हो जाते हैं।

5- सूक्ष्म और लघु उद्यम सुविधा परिषद (Micro and Small Enterprise Facilitation Council-MSEFC):

MSME अधिनियम के तहत रजिस्ट्रेशन कराने का एक और सबसे बड़ा लाभ यह भी है कि वस्तुओं या सेवाओं के ख़रीदार जो MSME द्वारा निर्मित या प्रदान किए जाते हैं, पार्टियों के बीच समझौते में उल्लेखित (Specifide) समय सीमा के भीतर या 45 दिनों के भीतर भुगतान करने के लिए बाध्य (Obligated) होते हैं। विलंबित भुगतानों की स्थिति में राज्य सरकार की सूक्ष्म और लघु उद्यम सुविधा परिषद (MSEFC) विलंबित भुगतानों से संबंधित विवादों के निपटारे के लिए ज़िम्मेदार होती है। अधिनियम यह भी निर्देश देता है कि MSEFC को किए गए हर रेफ़रेंस को 90 दिनों के भीतर तय किया जाना होता है।

केंद्र सरकार के अलावा, MSME राज्य सरकारों से भी छूट प्राप्त कर सकते हैं। इनमें टैक्स, पावर टैरिफ़,  कैपिटल इंवेस्टमेंट सब्सिडी, टैक्स हॉलीडे, आंशिक GST रिफ़ंड (Partial GST Refund), स्टांप ड्यूटी में छूट इत्यादि के साथ बहुत कुछ शामिल हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सरकार अब यह देखने लगी है कि आपके सूक्ष्म, लघु या माध्यम उद्योग का विकास, भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि में कैसे योगदान दे रहा है। आपके बिज़नेस स्केल की मदद के लिए सरकार ने कई योजनाओं को मान्यता दी है और उन पर अमल भी किया है, जिनसे आप MSME अधिनियम के तहत अपना व्यवसाय रजिस्टर कर सकते हैं। चाहे आप कार्यशील पूँजी लोन (Working Capital Loan) प्राप्त करना चाहते हैं या व्यवसाय के विस्तार के लिए अंतरराष्ट्रीय बाज़ारों तक पहुँच प्राप्त करना चाहते हैं, इन दोनों काम में MSME का रजिस्ट्रेशन आपकी काफ़ी मदद कर सकता है। MSME का रजिस्ट्रेशन बहुत ही आसान है। इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए आप हमारा ‘MSME क्या है और इसके लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें’ ब्लॉग पढ़ सकते हैं।

“अगर आप एक छोटे व्यवसायी हैं और अपने व्यवसाय के लिए Tally का इस्तेमाल करते हैं, तो अपने Tally Data को कभी भी-कहीं भी मोबाइल पर देखने के लिए आप हमारा FloProfit App डाउनलोड कर सकते हैं। आप FloProfit की मदद से अपने ग्राहकों को GST अनुरूप बिल भेज सकते हैं। साथ ही अपने स्टॉक को मैनेज, ख़र्चों को ट्रैक और कभी भी, कहीं भी कुशलतापूर्वक अपने सप्लायर को मैनेज कर सकते हैं। ज़्यादा जानकारी के लिए आप हमारी Website भी देख सकते हैं। इसके अलावा अगर आप अपने व्यवसाय के लिए Tally इस्तेमाल नहीं करते हैं, तो अपने स्टॉक को मैनेज करने, Bill बनाने और ग्राहकों से WhatsApp पर शेयर करने के लिए आप हमारा FloBooks App डाउनलोड कर सकते हैं। किसी अन्य सहायता के लिए आप हमारे कस्टमर केयर नंबर +91-7400297400 पर संपर्क कर सकते हैं।”

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of

हमारा ब्लॉग सब्सक्राइब करें

अपने व्यवसाय को विकसित करने के लिए बेहतरीन बिज़नेस टिप्स और MSME क्षेत्र में क्या नया और ट्रेंडिंग चल रहा है, उसकी जानकारी पाएँ।

Share This