लॉकडाउन के बाद व्यापार में वापस रफ़्तार लाने के लिए 5 महत्वपूर्ण टिप्स

April 3, 2020
Harshna Paroha

संक्रामक श्वसन रोग कोरोनावायरस, COVID ​​-19, सभी के लिए सबसे गंभीर चिंता का विषय बन गया है। चीन में जन्मा, यह भीषण कोरोनोवायरस अब दुनिया भर में फैल कर नए उपरिकेंद्रों का निर्माण कर रहा है और जीविका को अत्यधिक नुकसान पहुंचा रहा है। इस लेख को लिखने के समय, भारत में COVID-19 मामलों की संख्या 2,301 हो गई है, जिसमें अब तक 56 से अधिक मौतें हो चुकी हैं

पिछले हफ्ते, 25 मार्च से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन सप्ताह के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की और नागरिकों से घर के अंदर रहने और सामाजिक दूरी का सख्ती से पालन करने का आग्रह किया।माल की आवाजाही में मजबूत प्रतिबंध की वजह से भारत में व्यवसायों को आपूर्ति में भारी कमी का सामना करना पड़ रहा है और उनमें से कुछ अपने परिचालन को बंद करने पर मजबूर हो गए हैं। दूसरी ओर मार्च महीने के अंत से काम फिर से शुरू होने की वजह से, चीन अब आर्थिक सुधार के कुछ शुरुआती संकेत दिखा रहा है। इससे भारतीय कारोबार को, आपूर्ति की कमी, मांग और सीमित कार्यबल की कठिनाइयों के बीच कुछ उम्मीदें मिली हैं।

जैसा कि विकास के गुरु (Father of Evolution) चार्ल्स डार्विन ने कहा है, जो बचते हैं वे “सबसे मजबूत या सबसे बुद्धिमान नहीं होते, बल्कि बदलने के लिए सबसे अनुकूल होते हैं”।यह व्यवसायों पर भी लागू होता है।एसे में जब कोरोनवायरस के खिलाफ लड़ाई जारी है, भारतीय व्यवसायों को प्रतिकूल परिस्थितियों में अवसरों की खोज करनी शुरू करना चाहिए।शुरुआती सहायता करने के लिए, हम 5 रणनीतियाँ लेकर आए हैं, जिसपर प्रत्येक व्यवसायी को ध्यान देना चाहिए:

  1. अपनी पिछली व्यावसायिक रणनीतियों का मूल्यांकन और सुधार करें

इस लॉकडाउन अवधि को अवसर समझें, जहां आपके पास अपने सभी पिछले प्रयासों को सुधारने का अवसर है।इसे प्रभावी ढंग से तामील करने के लिए, आपको एक योजना बनाने की आवश्यकता होगी ।उदाहरण के लिए, यदि आप अब तक कुछ स्थानीय विक्रेताओं से सामान खरीद रहे थे, तो उनके साथ फिर से जुड़ने, उनकी वर्तमान स्थिति को समझने और आपूर्ति में कमी को कम करने के लिए साथ मिलकर काम करने का तरीका खोजने का समय आ गया है।बद् से बद्तर स्थिति में, बड़े वितरकों/थोक विक्रेताओं/ निर्माताओं तक पहुंच कर, माल आपूर्ति के लिए एक बैकअप योजना तैयार करें।

2. अपनी व्यावसायिक रिपोर्टों का पुन: आकलन करें

हालांकि आप अपनी वर्तमान वित्तीय स्थिति से अवगत होंगे, लेकिन अपनी व्यावसायिक रिपोर्टों को अच्छी तरह से जाँचने से आपको अपने ग्राहक के बकाया, इन्वेंट्री स्टेटस, लाभदायक वस्तुओं और सबसे विश्वसनीय पार्टियों के बारे में पता चलेगा। आप अपने पूर्व कार्यों का शीघ्रता से आकलन करने, प्राप्तियों की जांच करने और उसके अनुसार सूचित और डेटा-समर्थित फ़ैसले लेने के लिए FloBooks जैसे मोबाइल बिलिंग और अकाउंटिंग ऐप का उपयोग कर सकते हैं।

3. नए ख़रीद बिक्री विकल्पों को आज़माएँ 

ऐसे समय में जब सामाजिक दूरी नया नियम है, ऑफ़लाइन खुदरा उद्योग पूरी तरह से बदल जाएगा।दुकानों को अपने माल और सेवाओं को बेचने के लिए ऑनलाइन जाना होगा।छोटे व्यवसायों को प्रचार और बिक्री के लिए अपनी डिजिटल उपस्थिति में सुधार करना चाहिए और Facebook, Instagram, WhatsApp आदि जैसे सोशल मीडिया चैनलों का लाभ उठाना चाहिए।

4. नए उपभोग की आदतों के साथ अनुकूलन करें

अत्यधिक संभावना है कि कोरोनोवायरस संकट के बाद नई आदतें विकसित होंगी, जिनमें से कुछ पहले से ही दिखाई दे रहीं हैं। उपभोक्ता ज्यादातर ऑनलाइन खरीदारी, होम डिलीवरी और टेकअवे पर निर्भर रहेंगे।डिजिटल भुगतान को नक़द लेन देन से ज़्यादा तवज्जो दी जाएगी।व्यवसायों को बदलते उपभोक्ता प्रवृति के साथ बदलने  के लिए तैयार रहना चाहिए।

5. अपनी क्रेडिट लाइनों का विस्तार करें

भारत सरकार आर्थिक मंदी का सामना करने के लिए सक्रिय रूप से कदम उठा रही है और बकाया ऋणों पर 3 महीने की मोहलत की घोषणा की है। SIDBI (लघु औद्योगिक विकास बैंक) जैसे वित्तीय संस्थान भी एसे सूक्ष्म और छोटे व्यवसायों को ऋण दे रहे हैं जो COVID -19 से लड़ने के लिए चिकित्सा आपूर्ति का निर्माण कर रहे हैं।इन मुश्किल हालात में अधिशेष नक़द के लिए अपने नकदी प्रवाह पर निगरानी रखना और नई क्रेडिट लाइन खोजना अनिवार्य हो गया है।

तेजी से बदलती इस दुनिया में, सफल व्यवसाय वह हैं जो बदलते प्रवृत्तियों के प्रति सतर्क रहते हैं और अपनी रणनीतियों को बदलते प्रवृतियों के अनुसार बदलते रहते हैं। चूंकि परिवर्तन अपरिहार्य है, इसलिए हमें जल्दी और तेज़ी से बदलने की जरूरत है!

यदि आपको यह लेख पसंद आया, तो इसे अपने अन्य व्यावसायिक दोस्तों के साथ शेयर करें। यदि आप किसी विशिष्ट विषय पर अधिक जानकारी चाहते हैं, तो अपनी टिप्पणी नीचे दें और हम उन्हें अपने भविष्य के ब्लॉग में शामिल करेंगे।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of

हमारा ब्लॉग सब्सक्राइब करें

अपने व्यवसाय को विकसित करने के लिए बेहतरीन बिज़नेस टिप्स और MSME क्षेत्र में क्या नया और ट्रेंडिंग चल रहा है, उसकी जानकारी पाएँ।

Share This